बिहार कोरोना सहायता योजना मोबाइल App डाउनलोड करे– लोगों को 1,000 रूपये सहायता

Published Date - 09 April 2020 11:17:35 Updated Date - 10 April 2020 12:03:46

बिहार कोरोना सहायता योजना मोबाइल App डाउनलोड करे– लोगों को 1,000 रूपये सहायता

Bihar Corona Sahayta App | मोबाइलएपसेकरेंबिहारकोरोनासहायतायोजनाकेलिएऑनलाइनआवेदन, पात्रोंकोमिलेंगेहजाररुपये 

देश में कोरोना के चलते हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं, ऐसे में वह दिहाड़ी मजदूर जो किसी अन्य राज्य में काम  कर रहे थे, वह लॉकडाउन की वजह से वंही फंस गए हैं। इन मजदूरों की हालत इतनी खराब है कि वह अपने और अपने परिवार के लोगों को दो वक्त की रोटी तक नहीं खिला पा रहे हैं। इनमे ज्यादातर मजदूर बिहार से हैं। लिहाजा बिहार के इन फंसे हुए मजदूरों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए बिहार सरकार ने ‘Bihar Corona Sahayta Yojana’ शुरू की है।

आप सभी जानते ही होंगे की देश में कोरोना वाइरस (कोविड-19) से स्थिति बहुत नाजुक है ऐसे में बहुत से लोग जो रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में चले गए थे। उनका पलायन ना हो और कोरोना वाइरस तेजी से ना फैले इसके लिए बिहार सरकार ने अपने राज्य के वे नागरिक जो दूसरे राज्यों में कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान फस गये हैं उनके पलायन को रोकने के लिए ही कोरोनातत्कालसहायतायोजनामोबाइलऐप को लॉन्च किया है।

यह राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में से लोगों को दी जाएगी। इसके अलावा प्रदेश की सरकार ने लोगों को किसी भी तरह की खाने की कमी ना हो इसके लिए भी पूरी तैयारी कर ली है।

इस योजना के तहत अन्य राज्यों में फंसे बिहार के नागरिक मजदूरों को 1000-1000 रूपए मदद के तौर पर दिए जाएंगे। योजना की मदद सभी पीड़ितों तक पहुंचे इसलिए इसकी प्रक्रिया भी बहुत सरल रखी गई है। Corona Sahayta app के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है |

बिहार कोरोना सहायता मोबाइल ऐप डाउनलोड

तत्काल सहायता मोबाइल एंड्रॉयड एप डाउनलोड करने के लिए आपको नीचे दिये गये स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

ऊपर दिये लिंक पर क्लिक करने के बाद एप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगी। जिसको आपको इन्स्टाल कर लेना है।

कोरोना तत्काल सहायता योजना मोबाइल App रजिस्ट्रेशन

बिहार कोरोना सहायता एप पर अप्लाई कैसे करना है इसके लिए आप नीचे दिये चरणों को फॉलो कर सकते हैं:

  • एप को शुरू करना है जिसके बाद यह आप से कुछ पर्मिशन लेगी जिनको आपको ‘Allow’ कर देना है।
  • जिसके बाद कुछ इस तरह का लाभार्थी रजिस्ट्रेशन फॉर्म आपको दिखाई देगा।
  • यहाँ पर आपको पूछी गई जानकारी जैसे की ‘ग्रह जिला का नाम’, ‘ग्रह प्रखण्ड का नाम’, ‘ग्रह पंचायत का नाम’ डाल कर “आधारनंबर“, “पिता / पतिकानाम“, “लाभार्थीकानाम (आधारकार्डकेअनुसार)” डाल कर आगे बढ़ना है और अपना पंजीकरण पूरा कर लेना है।
 

आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान 1 लाख 80 हजार से अधिक प्रवासी बिहार आए हैं। जिनका आना अभी भी जारी है ऐसे में लोगों के खाने रहने की व्यवस्था बहुत जरूरी है और उन्हे कोरोना रोकथाम के नियमों का पालन करवाना भी एक बड़ी चुनौती है।

योजनाकाउद्देश्य

बिहार कोरोना सहायता योजना का उद्देश्य राज्य से बाहर फंसे हुए ऐसे लोगों की मदद करना है जो वित्तीय समस्या से जूझ रहे हैं। इस योजना के लिए नीतिश सरकार द्वारा 100 करोड़ रूपए का बजट तैयार किया गया है। इस बजट के अंतर्गत आपदा राहत केंद्र भी बनाया जाएगा, साथ ही लोगों के खाने की व्यवस्था भी की जाएगी।

 

योजनाकीपात्रताएंवदस्तावेज

तत्काल सहायता मोबाइल ऐप पर ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आपके पास निम्न्लिखित पात्रता होनी जरूरी है:
— योजना का लाभ केवल वही लोग उठा सकते हैं जो लॉकडाउन के चलते किसी अन्य राज्य में फसे हुए हैं।
— वे लोग जो राज्य के स्थायी निवासी हैं।
— राज्य के किसी भी बैंक में खाता होना अनिवार्य है
— दस्तावेजसूची: (1) आधार कार्ड (2) एक फोटो जो आधार कार्ड से मिलता हो

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने लोगों से आग्रह किया कि जिन्हें भी अपने स्वास्थ्य को लेकर शक हो, वे अपने जिले के सदर अस्पताल पहुंचकर जांच के लिए सैंपल दे सकते हैं सैंपल्स की जांच पटना भेजकर कराई जाएगी। अभी तक प्रदेश में 1400 से अधिक सैंपल्स की जांच हुई है, जिनमें से 22 की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

 

कोरोना सहायता मोबाइल ऐप पर आवेदन संबंधित जरूरी बातें

सभी नागरिक जो योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हे निम्न्लिखित शर्तों का पालन करना आवश्यक है:

  1. लाभार्थी के फोटो या सेल्फी का मिलान आधार कार्ड के डेटाबेस के फोटो से किया जायेगा मतलब आधार की फोटो उससे मिलनी चाहिए।
  2. एक आधार नंबर पर केवल एक हीं रजिस्ट्रशन मान्य होगा।
  3. मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओo टीo पीo को तत्काल सहायता मोबाइल ऍप में डालना होगा।
  4. मुख्यमंत्री तत्काल सहायता योजना में दी जाने वाली राशि केवल बैंक खाते में ही भेजी जाएगी।
 

इसके अलावा किसी भी अन्य जानकारी के लिए आप बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी की गई प्रैस रिलीस पीडीएफ़ नीचे देख सकते हैं जिसमें योजना और नागरिकों की सहायता से जुड़ी जानकारी उपलब्ध है।

राज्य सरकार ने यह भी बताया की बड़ी तादाद में लोगों के आने के कारण स्क्रीनिंग सिस्टम भी प्रभावित हुआ है जिससे बहुत से लोग बगैर स्क्रीनिंग के ही अपने गांव पहुंच गए। ऐसे लोगों को पंचायत भवन और स्कूलों में रोका गया है।

हेल्पलाइननंबर: 8789410978, 7667426822, 9534547098, 8292825106, 8986294256, 8271226204
-मेलआईडी: cmrf.sadm@gmail.com

 


Leave Your Comment Here