CG Sahaj Bijli Bill Scheme in Hindi – Krishak Jeevan Jyoti Yojana for Farmers in Chhattisgarh

Published Date - 03 August 2018 08:20:39 Updated Date - 04 August 2018 04:50:00

रमन सरकार ने किसानों के लिए बिजली बिल में बड़ी राहत का एलान किया है। रमन सरकार ने किसानों के लिए बिजली बिल में बड़ी राहत का एलान किया है। मंगलवार को आयोजित राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में किसानों के साथ ही नाई समुदाय के लिए बोर्ड के गठन की घोषणा भी की गई।मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की अध्यक्षता में आयोजित कैबिनेट की बैठक में किसानों के लिए सहज बिजली स्कीम की घोषणा की गई। इसके तहत किसानों को बिजली बिल में फ्लैट रेट की सुविधा दी जाएगी। कृषक जीवन ज्योति योजना के तहत प्रदेश के सभी किसानों के सभी पंपों को बिना किसी क्षमता एवं खपत की सीमा के फ्लैट रेट की सुविधा मिलेगी। पंप की संख्या के अनुसार बिजली बिल की फ्लैट दर अलग-अलग प्रस्तावित की गई है। 

छत्तीसगढ़ कैबिनेट ने 31 जुलाई 2018 को कृषक जीवन ज्योति योजना (Krishak Jeevan Jyoti Yojana) के तहत किसानों के लिए सीजीसहजबिजलीबिलयोजना 2018 (CG Sahaj Bijli Bill Scheme)” को मंजूरी दे दी है। अब किसी भी श्रेणी के सिंचाई पंपों के लिए सभी किसानों के पास उनकी बिलिंग में फ्लैट दर (Flat Rate) सुविधा होगी। क्षमता और खपत (Capacity & Consumption) के बजाए केवल पंपों की संख्या को ध्यान में रखा जाएगा। यह योजना छत्तीसगढ़ सरकार की एक बहुत अच्छी पहल है, जिससे किसानों को सीधे फायदा होगा।

कृषकजीवनज्योतियोजना (KJJY Scheme) का विस्तार किसानों को भारी राहत प्रदान करने जा रहा है। किसानों की पसंद के आधार पर, क्षमता और पंपों की संख्या दी गई फ्लैट दरों के अनुसार बिजली की आपूर्ति के आधार के रूप में कार्य करेगी। फ्लैट बिजली आपूर्ति दरों (Flat Power Supply Rates) को अब राज्य सरकार द्वारा तय किया जाएगा, ताकि किसानों के लिए कोई गलत मार्गदर्शन न हो। विकल्प पेश करने की अवधि 31 मार्च 2019 तक है। किसान (Farmers) अपनी जरूरतों के लिए उपयुक्त विकल्प भी चुन सकते हैं। छत्तीसगढ़ सरकार की यह प्रमुख योजना किसानों के लिए बहुत फायदेमंद है।

छत्तीसगढ़ राज्य के शिल्प कल्याण बोर्ड का गठन

– कैबिनेट ने नाई समाज के परंपरागत केश शिल्प को संरक्षण और उनके व्यवसाय को संवर्धन करने के लिए समाज कल्याण विभाग के अंतर्गत छत्तीसगढ़ राज्य के शिल्प कल्याण बोर्ड का गठन किया गया है। आज की जीवन शैली के लिए केश शिल्प के विशेष महत्व को देखते हुए बोर्ड के गठन का निर्णय लिया गया है। बोर्ड में 1 अध्यक्ष और केश शिल्प के क्षेत्र में कार्यरत सामाजिक समुदाय से 2 सदस्य होंगे। जिसमें कम से कम एक महिला होगी।

– वित्त, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, समाज कल्याण,श्रम, नगरी निकाय एवं विकास विभाग, आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विभाग, कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा, रोजगार तथा विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के प्रतिनिधि इसमें शामिल होंगे। जो उप सचिव स्तर से कम नहीं होंगे।

– समाज कल्याण विभाग के अपर संचालक इस बोर्ड के सदस्य होंगे। बोर्ड द्वारा केश शिल्प में संलग्न समुदाय का समग्र विकास सुनिश्चित करने के लिए सुझाव दिए जाएंगे। केश शिल्प में संलग्न कामगारों के सामाजिक आर्थिक और शैक्षणिक उत्थान के लिए नीति तैयार कर उसकी अनुशंसा शासन को दी जाएगी।

सहज बिजली बिल स्कीम की घोषणा

– रमन कैबिनेट ने किसानों के लिए भी बड़ी खुशखबरी दी है। किसानों को राहत देते हुए कृषि जीवन ज्योति योजना के तहत सभी किसानों को सभी पंपों को बिना किसी क्षमता या खपत के सीमा पर फ्लैट रेट की सुविधा लागू करने का निर्णय किया गया है। इस निर्णय के अंतर्गत जीवन ज्योति योजना राज्य के सभी किसानों के सभी पंपों पर बिलिंग के लिए फ्लैट रेट की सुविधा पंप की संख्या के अनुसार अलग-अलग प्रस्तावित की गई है। कृषक जीवन ज्योति योजना में विस्तार उपरांत इस योजना के अंतर्गत किसानों को विकल्प के अनुसार में पंप की क्षमता एवं संख्या के आधार पर बिजली की सप्लाई नीचे दर्शाई गई फ्लैट रेट पर की गई है।

 सीजीसहजबिजलीबिलयोजना (CG Sahaj Bijli Bill Yojana) कृषक जीवन ज्योति योजना (KJJY) के तहत किसानों को बड़ी राहत प्रदान करेगी। इस योजना के तहत, सभी किसानों को क्षमता और खपत (Capacity and Consumption) की कोई सीमा के बिना सभी पंप रखने के लिए बिलिंग के लिए फ्लैट दरें (Flat Rates) होंगी। हालांकि, यह बिल पंपों की संख्या (Numbers of Pumps) पर आधारित होगा जिसके लिए विभिन्न दरों का प्रस्ताव दिया गया है। यह किसानों की पसंद के अधीन होगा, जिसके बाद नीचे दी गई फ्लैट दरों के अनुसार बिजली आपूर्ति (Power Supply) की आधार या क्षमता पंप की संख्या होगी।

किसानोंकेलिएबिजलीआपूर्तिकीफ्लैटदरें (Flat Rates of Power Supply for Farmers):

क्षमता (Capacity)

पंपोंकीसंख्या (No of Pumps)

फ्लैटबिजलीकीदर (Flat Electricity Rates)

5 एचपीसेकमयाऊपर

पहला और दूसरा पंप्स

प्रति माह 200 रुपये प्रति एचपी (HP)

5 एचपीसेकमयाऊपर

तीसरा, चौथा और अन्य पंप्स

प्रति माह 300 रुपये प्रति एचपी (HP)

5 सेअधिकएचपी

पहला और दूसरा पंप्स

प्रति माह 200 रुपये प्रति एचपी (HP)

5 सेअधिकएचपी

तीसरा, चौथा और अन्य पंप्स

प्रति माह 300 रुपये प्रति एचपी (HP)

कृषक जीवन ज्योति योजना (Krishak Jeevan Jyoti Yojana) के तहत सहज बिजली बिल योजना में, अब किसानों की बिजली की शेष राशि की गणना उनके चुने हुए विकल्प के आधार पर एक फ्लैट दर के आधार (Flat Rate Basis) पर की जाएगी। फिर किसानों को भुगतान सुविधा (Payment Facility) प्राप्त होगी। विकल्प पेश करने की अवधि 31 मार्च 2019तक है।

यहहैअन्यमहत्वपूर्णफैसले


- संविदा पर कार्यरत महिला कर्मचारियों को 180 दिवस का प्रसूति अवकाश (संवैतनिक) दिया जाएगा। यह अवकाश दो जीवित संतानों के बाद हुए प्रसव पर लागू नहीं होगा।
- सीधी भर्ती के तृतीय श्रेणी के पदों पर अनुकम्पा नियुक्ति के लिए 10 प्रतिशत के सीमा बंधन को एक बार के लिए डेढ़ माह तक की अवधि के लिए शिथिल किया जाएगा।
- जल संसाधन विभाग में उप अभियंताओं का सहायक अभियंता के पद पर पदोन्नति के लिए सहायक अभियंता के 505 सांख्येत्तर पद की स्वीकृति प्रदान की गई।

 

छत्तीसगढ़कैबिनेटमीटिंग: गर्भावस्थाअवकाशऔरअन्यनिर्णय (Chhattisgarh Cabinet Meeting: Pregnancy Leave & Other Decisions)-

राज्य की कैबिनेट समिति (State’s Cabinet Committee) द्वारा उठाए गए अन्य प्रमुख निर्णय निम्नानुसार हैं:

  • संविदात्मककर्मचारियोंकेलिएगर्भावस्थाअवकाश (Pregnancy Leave for Contractual Employees): – महिला कर्मचारियों को जिन्हें अनुबंध आधार पर पहले शुरू किया गया था, उन्हें 180 दिनों की गर्भावस्था छुट्टी (भुगतान के साथ) मिल जाएगी। यह स्थायी महिला कर्मचारियों (Permanent Women Employees) पर सरकार की नीति के अनुसार है। हालांकि, यह छुट्टी एक शर्त के साथ है कि कर्मचारी को 2 से अधिक बच्चे नहीं होने चाहिए। ये 180 दिन नियुक्ति अवधि के पूरा होने पर या तारीख तक, जो भी पहले हो, लागू होगा।
  • प्रत्यक्षभर्तीकेआराम (Relaxation of Direct Recruitment): – 10% सीमा के साथ सीधे नियुक्ति के आधार पर कक्षा 3 श्रेणी पदों के लिए प्रत्यक्ष भर्ती (Direct Recruitment) 1 और आधा महीनों तक आराम है।
  • 505 उप-अभियंतापद (505 Sub-Engineer Posts): – कैबिनेट कमेटी जल संसाधन विभाग के(Water Resources Dept)  साथ काम कर रहे उप-इंजीनियरों को बढ़ावा देने के लिए 505 सहायक अभियंता पदों को भी मंजूरी दे रही है। उन्हें अब सहायक इंजीनियर पदों पर पदोन्नत किया जाएगा।
  • केशशिल्पीकल्याणबोर्डकीस्थापना (Setting Up of Kesh Shilpi Kalyan Board): – पारंपरिक बाबर समुदाय और उनके व्यापार की रक्षा के लिए, सरकार सीजी राज्य केश शिल्पी कल्याण बोर्ड (Chhattisgarh State Barber’s Welfare Board) की स्थापना करेगी। इस बोर्ड में सामाजिक कल्याण विभाग के तहत 1 अध्यक्ष और 2 पेशे से संबंधित सदस्य (1 महिला) शामिल होंगे।

सीजी सहज बिजली बिल स्कीम (कृषक जीवन ज्योति योजना) के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से सामाजिककल्याणविभाग, छत्तीसगढ़सरकार (Social Welfare Dept, Govt of Chhattisgarh) के आधिकारिक वेब पोर्टल पर जाएं।

यहांक्लिककरें >> Click Here 

                


Leave Your Comment Here