Published Date - 23 April 2018 05:27:50 Updated Date - 23 April 2018 05:29:23

Haryana Govt. announces Durgashakti Vahini | Chatra Parivahan Suraksha Yojana for Safety of Women

The state Chief Minister of Haryana state, Mr. Manohar Lal, has announced the formation of ‘Durgashakti Vahini’ Force. The new force thus announced will be special type of Women’s Task fork that has been announced for launch looking into the security and safety of the women. Under this scheme, all the girl students will get free travel facility from their home to their educational institutions. The state govt. will also constitute a special task force namely “Durgashakti Vahini” to minimize the crimes against women. As per the statements made, the new task force will aim at eliminating the cases of criminal activities going on against women in the state. The new initiative has been taken by the government after the implementation of the Jhajjar’s Jaagriti project.

The primary objective of this scheme is to ensure that the girls feel secure at public places, work places and while travelling. Haryana state govt. will follow a zero tolerance policy for unethical behaviour against women.

The tagline for this Yojana is “Mhare Haryane Ki Shaan, Ladka-Ladki Ek Saman”. The state govt. will also take other steps necessary to ensure survival and safety of women after recent rape cases in haryana. 

इस नई योजना के द्वारा राज्य सरकार राज्य में मौजूद महिलाओं को उनकी सुरक्षा को लेकर यह आश्वासन देना चाहती है, कि वे बिना डरे कार्यस्थल और सार्वजानिक स्थानों तक पहुच सकती है. इस योजना के द्वारा सरकार का उद्देश्य प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ हो रहें अपराधो पर रोक लगाना है.

  • राज्य में यह नई पहल, राज्य में लड़कियों और महिलाओं के बिना डरे ट्रेवल करने के उद्देश्य से की गई है. इस योजना से यह भी सुनिश्चित किया गया है की राज्य में मौजूद लडकिया और महिलाएं अपने कार्यस्थल, स्कूल और इंस्टिट्यूट तक स्वतंत्र और सुरक्षित रूप से पंहुच सके.
  • इसके अलावा राज्य सरकार राज्य में लड़कियों और महिलाओं कि सुरक्षा के लिए अन्य योजनाओं के साथ छात्रा परिवहन योजना की शुरूआत भी करेगी. इसके अंतर्गत शिक्षण संस्थानों में पांच या अधिक छात्राओं के आवेदन पर सरकार द्वारा ऑटो और बसों के माध्यम से फ्री परिवहन सुविधा उपलब्ध कराइ जाएगी .
  • इस योजना के अंतर्गत विभिन्न शिक्षण संस्थानों में नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी जिनके समक्ष छात्राएं अपनी परिवहन संबंधित मांग को रख सकती है. इसी के साथ यह भी बताया गया है की राज्य में महिलाओं को शिक्षण संस्थानों तक सुरक्षित पंहुचाने के लिए 131 रास्तों पर महिला बसों का संचालन किया जा रहा है.

इस योजना के क्रियान्वयन का मुख्य उद्देश्य स्पष्ट है कि राज्य सरकार द्वारा यह कदम राज्य में लडकियों के खिलाफ होने वाले अत्याचारों को देखते हुए लिया जा रहें है. महिलाओं के लिए इस नवनिर्मित टास्क फोर्स के गठन से यह सुनिश्चित होगा की राज्य में महिलओं और लडकियों की सुरक्षा सरकार के लिए एक बड़ी चिंता का विषय है. और अब मध्य प्रदेश के बाद हरियाणा वह द्वितीय राज्य है जहाँ 12 साल से कम उम्र की कन्या के साथ दुष्कर्म करने वालोँ पर फासी की सजा का प्रावधान मान्य किया गया है.

Chatra Parivahan Suraksha Yojana

The main Features and Heighlights of this scheme are given below:-

  •  The new initiative has been taken by the state government such that the Girls within the state will be able to move about freely without fear. The new initiative will also ensure that the girls are able to reach to their work place or school and institutions freely and safely.
  • The state government will be launching the new tasks force along with implementation of other schemes for safety of girls and women statewide including the ‘Chatra Parivahan Suraksha Yojana’.
  • With the formation of the women task force, it is obvious that the implementation of such schemes will be easier as the girls and women of the state will be able to directly contact the women nodal officers for their requirements.

It is obvious that the new initiative has been taken by the state government looking into the rising number of crime against women and Girls. With the formation of such task force for women will ensure that the safety of Girls and women in the state is a major concern to the state government.

 


Leave Your Comment Here