Haryana Syama Prasad Mookerjee Durghatna Sahayata Yojana (दुर्घटना बीमा) 2018 in Hindi

Published Date - 05 March 2018 04:47:03 Updated Date - 05 March 2018 04:47:39

हरियाणा सरकार ने डॉश्यामाप्रसादमुखर्जीदुर्घटनासहयोगयोजना (Syama Prasad Mookerjee Durghatna Sahayata Scheme) की शुरुआत की। इस योजना के अंतर्गत सरकार आकस्मिक मृत्यु और विकलांगता के मामले में 1 लाख रुपये का बीमा कवर देगी। इस “दुर्घटनाबीमायोजना” “Accident Insurance Scheme” के तहत लोगों को घातक दुर्घटनाओं के मामले में वित्तीय सहायता दी जाएगी।

यह आकस्मिक बीमा लागत से बिल्कुल मुफ्त है इसके बाद पात्र लाभार्थियों को किसी भी बीमाप्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा। यह योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू की गई स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से बिल्कुल अलग है। यह योजना सिर्फ हरियाणा निवासियों के लिए शुरू की गई है।

 

हरियाणा सरकार ने 'डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी दुर्घटना सहायता योजना' के नाम से एक लाख रुपए की एक नई योजना लागू करने का निर्णय लिया है। यह योजना पूरी तरह से फ्री है और इसके लिए किसी भी तरह का प्रीमियम नहीं भरना पड़ेगा। इस संबंध में सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग ने एक अधिसूचना भी जारी की है।

'डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी दुर्घटना सहायता योजना' एक ऐसी दुर्घटना बीमा योजना होगी, जिसके तहत दुर्घटना में मृत्यु और दुर्घटना के कारण विकलांगता होने पर एक लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा। नई योजना के तहत कवरेज के दायरे में केवल हरियाणा के रहने वाले केवल वही लोग आएंगे, जो नामांकन न होने या किसी अन्य कारण से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत लाभ नहीं ले सकते हैं।

दायरा है बड़ा योजना के तहत 18 से 70 साल के आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति पात्र होगा जो कि हरियाणा का निवासी या मूल निवासी है। इसमें मृत्यु, रेल, सडक़ या हवाई दुर्घटनाओं, दंगों, हड़ताल और आतंकवाद जैसी दुर्घटनाओं के कारण स्थाई विकलांगता या विकलांगता, सांप के काटने, डूबने, विष, करंट लगने, ऊंचाई से गिरने, मकान या भवन के गिरने, अग्नि, विस्फोट, हत्या, जानवरों के हमले, भगदड़ और घुटन, पाला मारने, लू लगने, बिजली गिरने, जलने, भूख या भुखमरी (केवल मृत्यु) और प्रसव के दौरान मातृ मृत्यु जैसे मामले कवर होंगे। योजना में व्यावसायिक खतरों जैसे कि थ्रेशिंग मशीन या औद्योगिक मशीन या किसी अन्य अप्राकृतिक घटना के कारण मृत्यु या पूर्ण स्थायी विकलांगता या विकलांगता भी शामिल होंगी।

इनपरनहींहैबीमा -

खास बात यह है कि युद्ध और इससे संबंधित खतरे, परमाणु जोखिम और जानबुझ कर स्वयं को चोट पहुंचाने, आत्महत्या या आत्महत्या का प्रयास, मादक पेय या मादक पदार्थों के कारण, यात्री के रूप में हवाई यात्रा के अलावा हवाई गतिविधियों में लिप्त होने और आपराधिक इरादे से किसी भी कानून का उल्लंघन करने के मामले शामिल नहीं होंगे।

इन्हेंमिलेगापैसा

इस योजना के तहत पीएमएसबीवाई के तहत मंजूर लाभ का 50 प्रतिशत लाभ मिलेगा। यानि दुर्घटना मृत्यु के लिए एक लाख रुपये और दुर्घटना के कारण दोनों आंखों की पूर्ण या रि-कवरेबल हानि या दोनों हाथों या पैरों की हानि या एक आंख की रोशनी खोने या हाथ या पैर की हानि के मामले में एक लाख रुपये दिए जाएंगे। विकलांगता के मामले में, लाभ का भुगतान दुर्घटना के शिकार व्यक्ति को किया जाएगा, जबकि मृत्यु के मामले में लाभ वरीयता के आधार पर जीवित पति या पत्नी (यदि दोबारा शादी न की हो), सभी अविवाहित बच्चों को बराबर हिस्सा, माता-पिता को दिया जाएगा।

 

Syama Prasad Mookerjee Durghatna Sahayata Scheme in Haryana 2018 – 19

इस योजना का लाभ उठाने के लिए जिला समाज कल्याणकारी कार्यालय में अपना आवेदन कर सकते हैं। इससे पहले प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) के लिए 2 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान किया। इस के अनुसार वे लोग जो वार्षिक प्रीमियम का भुगतान करने में असमर्थ हैं या उस योजना में नामांकित नहीं हैं।

इस योजना के लाभों का लाभ उठा सकते हैं। हालांकि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी दुर्घाटना सहयोग योजना के अंतर्गत मुआवजे / सहायता राशि को घटाकर 1 लाख रुपये कर दिया है।

 यह योजना के अंतर्गत किसी भी दुर्घटना से हुई मृत्यु पर उस व्यक्ति के परिवार को 1 लाख रुपए दिया जाएगा।
* इस योजना का लाभ 18 से 70 वर्ष की आयु वर्ग के सभी लोग उठा सकते हैं।

* इस योजना के लिए प्रीमियम का भुगतान नहीं करना पड़ेगा।
* इसके अलावा लोगों को मृत्यु के 6 महीने या दुर्घटना की तारीख से 12 महीनों से पहले दावा करने के लिए आवेदन करना होगा।

 


Leave Your Comment Here