MP Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19 for Farmers Registration Now @ mpeuparjan.nic.in

Published Date - 26 February 2018 02:38:10 Updated Date - 26 February 2018 02:39:33

मध्य प्रदेश सरकार ने “मुख्यमंत्रीभावान्तरभुगतानयोजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए गेहूं के किसानों  के पंजीकरण के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं | सभी गेहूं के किसान वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अपनी Price deficit पाने के लिए पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं | इच्छुक किसान “भावान्तर भुगतानयोजना” की आधिकारिक वेबसाइट http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx पर पंजीकरण कर सकते हैं |

भावान्तर भुगतानयोजना” के अंतर्गत यदि गेहूं की कीमत केंद्र सरकार द्वारा तय की गई MSP से नीचे गिरती है तो राज्य सरकार गेहूं के किसानों को मुआवजा प्रदान करेगी | भावान्तर का अर्थ है भाव + अंतर (मूल्य घाटा), भावान्तर छोटे और सीमांत किसानों को लाभान्वित करने की योजना है |

इसके अलावा, पोर्टल पर Online Registration करने के लिए कोई शुल्क नहीं है | इच्छुक गेहूं के किसान भावान्तर योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण कर सकते हैं |

भवान्तरभुगतानयोजना के तहत यदि केंद्र सरकार द्वारा तय एमएसपी के नीचे गेहूं की कीमतों में गिरावट आई है तो राज्य सरकार गेहूं के किसानों को मुआवजा देगा (Bhavantar Bhugtan yojana) छोटे और सीमांत किसानों को लाभान्वित करने के लिए है। (MP Bhavantar Bhugtan Scheme) का लाभ लेने के लिए या ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए किसी भी प्रकार का भुगतान नहीं करना होगा।|

Madhya Pradesh govt. is inviting online applications for Wheat 2018-19 Farmer Registration under Mukhyamantri Bhavantar Bhugtan Yojan. Subsequently, all the wheat farmers can fill the registration form to get their Price deficit for FY 2018-19. Interested farmers can make “भावांतर भुगतान योजना किसान पंजीयन” (farmer registration) at the official website of MP E-Uparjan – mpeuparjan.nic.in

Under Bhavantar Bhugtan Yojana, if the prices of wheat falls below MSP fixed by the Central govt. then state govt. will provide compensation to the wheat farmers. As per the name suggests, Bhavantar is Bhav+Antar (Price deficit) scheme to benefit small and marginal farmers.

Furthermore, there is no cost to make online registration at the portal. Interested wheat farmers can make registration to avail the benefits of Bhavantar scheme.

Farmer Registration for MP Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19
* लाभार्थी सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट mpeuparjan.nic.in पर जाएं।
* इसके बाद होमपेज पर ‘गेहूं (गेहू)’ सेक्शन के तहत “गेहू 2018-19” (Wheat 2018-19 Farmer Registration Application)” लिंक पर क्लिक करें।
* इसके बाद गेहूं प्रोक्योर्मेंटमॉनिटरिंगसिस्टम (2018-19) पोर्टल नीचे दिखाएगा।
* यहां “Samagra Id” and “Captcha” भरे और फिर “पंजीकरण (रजिस्टर)” बटन पर क्लिक करें
* इसके बाद नीचे दिखाए गए फॉर्म की तरह फॉर्म दिखाई देगा

* फॉर्म में पूछी गई जानकारी को ध्यान से भरें जैसे बैंक खाता विवरण, भूमि विवरण आदि सही तरीके से भरना होगा।
* अंत में उम्मीदवार पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए “सुरक्षित (Secure)” बटन पर क्लिक कर सकते हैं।
* इसके अलावा किसान पूरा आवेदन फॉर्म का एक प्रिंटआउट ले सकते हैं, जिसे खरीद के समय दिखाना पड़ता है।

 

MP Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19 Farmer Registration Procedure

  • Firstly visit the official website mpeuparjan.nic.in
  • Subsequently on the homepage, click the “गेहू 2018-19″ link under ‘Wheat (गेहू)” section.
  • Accordingly on the new page, click the “गेहूं 2018-19 किसान पंजीयन आवेदन करें (Wheat 2018-19 Farmer Registration Application)” link or directly click this link
  • Subsequently, Wheat Procurement Monitoring System (2018-19) Portal will open
  • Here enter the “Samagra Id” and “Captcha” and then click “पंजीयन करें (Register)” button.
  • Afterwards, “MP Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19 Farmer Registration Form” will appear
  • Here farmers have to fill all the details accurately including Personal details, Bank account details, Land Details etc.
  • Finally candidates can click the “सुरक्षित करें (Secure)” Button to complete the Registration process.
  • Furthermore, farmers can take a printout of the completed application form which they have to show at the time of procurement.
 

Note – If Farmer does not posses “Samagra Id”, then farmers can click on the “सदस्य आई डी खोजें (Member Id)” through the link – Find Member ID

E-Uparjan Process in Hindi-

ई-उपार्जन प्रक्रिया 6 सरल चरणों में होती है, जिसमें खरीद, बिक्री और सामानों का परिवहन भी शामिल होता है। यह प्रक्रिया सही योजना बनाने और पारदर्शिता सुनिश्चित करने की प्रक्रिया को कम करेगी। “से किसानो से अनाज की प्राप्ति के पश्चात, उन्हें अनाज बेचने की रसीद एवं उनके द्वारा बेचे गये अनाज कि राशि सात कार्यालयीन दिवसों में उनके बैंक खाता मे जमा कर दी जयेगी। ई-उपार्जन साफ्ट्वेय़र के माध्यम से संग्रहण केन्द्र को अनाज जारी एवं बारदाने जारी तथा बारदाने कि प्राप्ति की जाती है। उपार्जन केन्द्र मे होने वाली अनाज खरीदी की संपूर्ण प्रक्रिया ई -उपार्जन साफ्ट्वेय़र के माध्यम से ही की जायेगी।”

 

E-Uparjan Process in English-

E-Uparjan process takes place in 6 simple steps which includes purchase, sale and even the transportation of goods. Accordingly, this process will ease down the process of making accurate planning and ensure transparency. 

This e-procurement process will help govt. in procurement of grains from farmers. Subsequently after receipt of grains, govt. provides a receipt and transfers amount of grains directly into bank account of farmers within 7 days.

 

 

Apply Link

Official Website
Online Application Form
Online Registration

 


Leave Your Comment Here