AMRUT:Atal Mission for Rejuvenation and Urban Transformation Yojana (अमृत योजना)

Published Date - 15 September 2017 04:23:35 Updated Date - 25 October 2017 10:04:40

अमृत मिशन का मुख्य लक्ष्य, जल आपूर्ति, सीवरेज, नगरीय परिवहन आदि जैसी घरों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करना है और शहरों में संसाधनों की उपलब्धि कराना, जिससे लोगों के जीने के तरीके में बदलाव आ सके, खासतौर पर गरीबों और पिछड़ों की दिनचर्या में।केंद्र सरकार ने पांच राज्यों के 102 अमृत शहरों के इंफ्रास्ट्रक्चर सुधार के लिए 3120 करोड़ रुपए देने की घोषणा की है। इन पैसों का इस्तेमाल शहरों में पानी सप्लाई, ड्रेनेज नेटवर्क में सुधार, गैर-मोटरयुक्त ट्रांसपोर्ट सिस्टम और सरकारी जगहों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए किया जाएगा। एक बयान के अनुसार शहरी विकास मंत्रालय ने अटल मिशन फॉर रेजुवेनशन एंड अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन (अमृत) के तहत निवेश को मंजूरी दी है।

अमृत मिशन का मूल तत्व 

अमृत मिशन का मूल तत्व नागरिकों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करना है, जिसमें निम्न तत्व शामिल हैं-

  • जल की उचित आपूर्ति
  • जल आपूर्ति प्रणाली का ठीक तरीके से सृजन करना और उसका रखरखाव करना।
  • पुरान जल आपूर्ति का पुनर्वास करना।
  • पुराने जल निकायों का पुनर्वास करना।
  • पिछड़े इलाकों के लिए विशेष जल प्रबंधन करना।
  • सीवेज सुविधा
  • विकंद्रित, नेटवर्क अंडरग्राउंड सीवेज प्रणाली के सृजन एवं उसका रखरखाव।
  • पुराने सीवेज प्रणाली और ट्रीटमेंट संयंत्रों का पुनर्वास।
  • पानी की रिसाइकलिंग और व्यर्थ पानी का दोबारा इस्तेमाल।
  • सेप्टेज
  • मल कीचड़ प्रबंधन।
  • सीवर और सेप्टिक टैंक की जैविक और यांत्रिक सफाई।
  • बाढ़ जल निकासी
  • बाढ़ की रोकथाम के लिए प्रभावी बाढ़ निकासी प्रणाली का निर्माण एवं उसका रखरखाव।
  • शहरी परिवहन
  • नॉन-मोटर परिवहनों के लिए फुटपाथ/पैदलपथ, फुट ओवर ब्रिज आदि का निर्माण कराना।
  • मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण और रखरखाव।
  • बस रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम।
  • अंतर्देशीय जलमार्ग के लिए फैरी वेसेल।
  • ग्रीन स्पेस
  • ग्रीन स्पेस, पार्कों और मनोरंजन केंद्रों के निर्माण के साथ शहरों की सुविधा को बढ़ाना, खासतौर पर बच्चों के लिए।
  • परियोजना या परियोजना संबंधी कार्यों के लिए जमीन को खरीदना।
  • राज्य/यूएलबी दोनों के स्टाफ के सैलरी,
  • पावर
  • टेलीकॉम
  • स्वास्थ्य
  • शिक्षा
  • वेतन रोजगार कार्यक्रम और स्टाफ घटक

अटल  मिशन  फॉररिज्युविनेशन  एंड  अर्बनट्रांसफॉर्मेशन (अमृत)  योजना  के  प्रमुख  बिंदु:
– कस्बों  का  कायाकल्प  करने वाली  इस  परियोजना का  हर  क्षेत्र  में  नियमित  रूप  से ऑडिट  किया  जायेगा।  बिजली   का बिल,  पानी का बिल,  हाउस टैक्स, आदि सभी सुविधाएं ई-गवर्नेन्स के माध्यम से सुनिश्च‍ित की जायेंगी।
– यह  उसी  कस्बे  में  लागू  हो गी, जहां  की  जनसंख्या  एक  लाख  से  ज्यादा  है।
– जिन राज्यों की सरकारें इसे अच्छे ढंग से आगे बढ़ायेंगी उनके लिये बजट आवंटन भी बढ़ा दिया जायेगा।
– अमृत के अंतर्गत वो परियोजनाएं भी आयेंगी, जो जेएनएनयूआरएम के अंतर्गत अधूरी रह गईं।  अमृत के अंतर्गत जेएनएनयूआरएम की अधूरी परियोजनाओं को 2017 तक पूरा किया जायेगा।

अटल मिशन क्या है ?

अमृत मिशन का मुख्य उद्देश्य है घरों में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराना जैसे कि जल आपूर्ति, सीवरेज, शहरी परिवहन आदि जिससे सभी नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि हो सके खासकर गरीब और विकलांग लोगों के जीवन में।

अमृत मिशन के मूल तत्व इस प्रकार हैं :

पानी की उचित आपूर्ति

  • जलआपूर्ति प्रणालियों का निर्माण एवं रख-रखाव करना
  • पुराने जलापूर्ति प्रणालियों का पुनर्वास करना
  • पुराने जल निकायों का कायाकल्प करना
  • दुर्गम क्षेत्रों के लिए विशेष पानी की व्यवस्था करना

सीवेज सुविधा

  • भूमिगत सीवेज प्रणाली का निर्माण एवं रख-रखाव करना
  • पुरानी सीवेज प्रणालियों एवं उपचार संयंत्रों का पुनर्वास करना
  • जल संसाधनों की पुनरावृत्ति करना अथवा अपशिष्ट जल का पुन: उपयोग करना

सेप्टिक

  • मल प्रबंधन
  • नाली और सेप्टिक टैंक की जैविक और यांत्रिक सफाई करना

बाढ़ की पानी की निकासी

  • प्रभावी बाढ़ जल निकासी प्रणाली का निर्माण एवं रख-रखाव करना जिससे बाढ़ द्वारा होने वाली तबाही को रोका जा सके

शहरी परिवहन

  • उचित फुटपाथों एवं रास्तों का निर्माण करना एवं गैर मोटर चालित परिवहन के लिए सुविधाएं उपलब्ध करना
  • विभिन्न स्थानों पर बहु स्तरीय पार्किंग का निर्माण एवं रख-रखाव करना
  • विभिन्न स्थानों पर बस रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम की स्थापना करना
  • दूरसंचार
  • स्वास्थ्य
  • शिक्षा इत्यादि

अमृत  योजना  के  तहत  उत्तर  प्रदेश  के  आच्छादित  शहरों  का लिस्ट :-

  • लखनऊ
  • बुदायूं
  • कानपुर
  • बांदा
  • गाजियाबाद
  • लखीमपुर
  • आगरा
  • हाथरस
  • मेरठ
  • ललितपुर
  • वाराणसी
  • मोदिनगर
  • इलाहाबाद
  • देवरिया
  • बरेली
  • पीलीभीत
  • मुरादाबाद
  • हरदोई
  • अलीगढ़
  • मैनपुरी
  • सहारनपुर  
  • एटा  
  • गोरखपुर  
  • बस्ती
  • फिरोजाबाद
  • चंदौसी
  • लोनी
  • गोंडा
  • झांसी
  • अकबरपुर
  • मुज्जफरनगर
  • खुर्जा
  • मथुरा
  • आजमगढ़  
  • शाहजहांपुर  
  • गाजीपुर  
  • रामपुर
  • मुगलसराय  
  • मौनाथ भंजन  
  • सुल्तानपुर  
  • फर्रुखाबाद-कम-फतेहगढ़
  • शिकोहाबाद  
  • हापुड़  
  • शाम्ली  
  • इटावा  
  • बलिया  
  • मिर्जापुर-कम-विंध्यांचल  
  • बड़ौत  
  • बुलंदशहर  
  • संभल
  • अमरोहा (एनपीपी)
  • फतेहपुर  
  • रायबरेली  
  • ओरई
  • बहराईच  
  • जौनपुर  
  • उन्नाव  
  • सीतापुर  
  • फैजाबाद  
  • कासगंज  

 

अधिक जानकारी के लिए कृपया इस लिंक पर क्लिक करें


Raees Ahmad

27-01-2018

AMRUT youjna ka tehat apne kasbay ko kaise labhanvit kiya ja sakta prikriya kiya hai kirpya karke batae

Leave Your Comment Here