Pradhanmantri Sukanya Samriddhi Yojana (प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना) in Hindi

Published Date - 10 September 2017 04:06:38 Updated Date - 25 October 2017 10:32:17

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य बेटियों की पढ़ाई और उनकी शादी पर आने वाले खर्च को आसानी से पूरा करना है।  योजना के अंतर्गत बेटी की पढ़ाई व शादी के लिए डाक विभाग के पास ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।  डाक विभाग के किसी भी पोस्ट ऑफिस के साथ अकाउंट खोलने के लिए सुविधा सेंटर में भी अलग काउंटर खुलेगा। यहां जरूरी डॉक्यूमेंट्स जमा कराने के बाद अकाउंट खुलया जा सकेगा। 

 बेटियों के भविष्‍य के लिए पैसे जोड़ने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना एक अच्छी स्किम है। इस योजना पर न सिर्फ पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) की तुलना में ज्‍यादा ब्याज मिलेगा बल्कि, यह माता-पिता की टैक्स प्लानिंग में भी मददगार होता है। आप अपनी 10 साल तक की बेटी के लिए यह खाता खुलवा सकते हैं। इस पर वर्तमान में 8.1 फीसदी सालाना का ब्याज मिल रहा है जो पीपीएफ के मुकाबले अधिक है।

यह है योजना: 

 * सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से एक साल में 1 हजार से लेकर 1 लाख पचास हजार रुपए जमा कर सकता है।

* यह पैसा अकाउंट खुलने के 14 साल तक ही जमा करवाना होगा और यह खाता बेटी के 21 साल की होने पर ही मैच्योर होगा। 

* योजना के नियमों के अंतर्गत बेटी के 18 साल के होने पर आधा पैसा निकलवा सकते हैं। 

* 21 साल के बाद खाता बंद हो जाएगा और पैसा पालक को मिल जाएगा।

* अगर बेटी की 18 से 21 साल के बीच शादी हो जाती है तो अकांउट उसी वक्त बंद हो जाएगा। 

* अकाउंट में अगर पेमेंट लेट हुई तो सिर्फ 50 रुपए की पैनल्टी लगाई जाएगी। 

* पोस्ट ऑफिस के अलावा कई सरकारी व निजी बैंक भी इस योजना के तहत खाता खोल रही हैं।  

* सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खातों पर आयकर कानून की धारा 80-जी के तहत छूट दी जाएगी। 

* पालक अपनी दो बेटियों के लिए दो अकाउंट भी खोल सकते हैं। 

* जुड़वां होने पर उसका प्रूफ देकर ही पालक तीसरा खाता खोल सकेंगे। पालक खाते को कहीं भी ट्रांसफर करा सकेंगे। 

योजना के अंतर्गत 2015 में कोई व्यक्ति 1,000 रुपए महीने से अकाउंट खोलता है तो उसे 14 साल तक यानी 2028 तक हर साल 12 हजार रुपए डालने होंगे। मौजूदा हिसाब से उसे हर साल 8.6 फीसदी ब्याज मिलता रहेगा तो जब बच्ची 21 साल की होगी तो उसे 6,07,128 रुपए मिलेंगे।  गौर करने वाली बात यह है कि 14 सालों में पालक ने अकाउंट में कुल 1.68 लाख रुपए ही जमा करने पड़े। बाकी के 4,39,128 रुपए ब्याज के हैं।

 क्या है खाता खुलवाने की विधि

  • सुकन्या समृद्धि योजना का खाता आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंकों की अधिकृत शाखा में खुलवा सकते हैं।
  • आम तौर पर जो भी बैंक पीपीएफ खाता खोलने की सुविधा उपलब्‍ध कराते हैं, वे सुकन्या समृद्धि योजना का खाता भी खोलते हैं।

खाताखुलवानेकेलिएइनदस्तावेजोंकीहोतीहैजरूरत

  • सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवाने का फॉर्म।
  • बच्ची का जन्म प्रमाणपत्र।
  • जमाकर्ता (माता-पिता या अभिभावक) का पहचान पत्र जैसे पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि।
  • जमाकर्ता के पते का प्रमाणपत्र जैसे पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोल बिल आदि।
  • सुकन्‍या समृद्धि योजना का फॉर्म आप पोस्ट  ऑफिस या बैंक  से प्राप्त कर सकते हैं  या https://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/content/pdfs/494SSAC110315_A3.pdf यहां से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • खाता खुल जाने पर जिस पोस्ट ऑफिस या बैंक में आपने खाता खुलवाया है वह आपको एक    पासबुक देता है।
  • पैसे जमा करने के लिए आप नेटबैंकिंग का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं।

 

कौन खुलवा सकता है सुकन्या समृद्धि अकाउंट

  • आप यह खाता तभी खुलवा सकते हैं जब आप लड़की के प्राकृतिक या कानूनन अभिभावक हों।
  • आप एक बेटी के नाम ऐसा एक ही खाता खुलवा सकते हैं।
  • कुल मिला कर आप दो बेटियों के नाम यह खाता खुलवा सकते हैं लेकिन अगर दूसरी बेटी के जन्‍म के समय आपको जुड़वां बेटी होती है तो आप तीसरा खाता भी खुलवा सकते हैं।

 सुकन्या समृद्धि योजना से आपको होंगे ये लाभ

  • जब से मोदी सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की घोषणा की है तब से इस पर पीएफ से अधिक ब्‍याज मिल रहा है।
  • इसमें जमा की जाने वाली राशि पर आपको आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत कटौती का लाभ मिलता है।
  • न केवल इस पर मिलने वाले ब्‍याज बल्कि मैच्‍योरिटी पर मिलने वाली रकम भी टैक्स फ्री होती है।

कितने पैसे करवा सकते हैं जमा

  • सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में आप शुरू में न्‍यूनतम 1,000 रुपए जमा करवा सकते हैं।
  • एक साल में अधिकतम डेढ़ लाख रुपए जमा करवाया जा सकता है।
  • अगर आप किसी साल न्‍यूनतम राशि जमा नहीं करवाते हैं तो अगली बार पैसे जमा करवाते समय 50 रुपए की पेनाल्‍टी देनी होगी।

कब निकाल सकते हैं पैसे

  • बेटी के 18 साल के होने से पहले आप पैसे नहीं निकाल सकते।
  • उसके 21 साल के होने पर अकाउंट मैच्‍योर हो जाता है।
  • बेटी के 18 साल पूरे करने के बाद आपको आंशिक निकासी की सुविधा मिलती है।
  • मतलब आप खाते में जमा रकम का 50 फीसदी तक निकाल सकते हैं।
  • दुर्भाग्‍य से अगर बच्ची की मृत्यु हो जाती है तो खाता तुरंत बंद हो जाएगा।
  • ऐसे मामले में खाते में पड़ी रकम अभिभावक को दे दी जाती है।

 


sneha

11-02-2018

it is a very good scheme. and it is a good way of saving for girl child but maturity time is very long for that. if anyone want to read more about it plz visit http://www.applypradhanmantriyojana.com/sukanya-samriddhi-account-ssy/

Leave Your Comment Here