उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

Published Date - 17 April 2020 11:08:34 Updated Date - 17 April 2020 11:12:00

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने उत्तर प्रदेश कोरोना वायरस 1000 रुपये मजदूर भत्ता योजना का शुभारम्भ किया है ।इस योजना के अंतर्गत  राज्य के 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और निर्माण क्षेत्र (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) के 20.37 लाख श्रमिकों को आम दिनों  की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये भत्ता दिए जाने का ऐलान किया । आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस मजदूर भत्ता योजना से जुडी सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े ।

मुख्यमंत्री का कहना है की उत्तर प्रदेश के श्रम विभाग में  15 लाख दिहाड़ी मजदूर पंजीकृत हैं इन पंजीकृत मजदूरों को राज्य  सरकार द्वारा 1000 -1000 रूपये की धनराशि के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।बड़ी बड़ी कंपनियों ने भी अपने वर्करो को  घरों में रह कर काम करने की इजाजत दे दी है। मुख्यमंत्री जी का कहना है की कोरोना वायरस के चलते मजदूरों का भी कोई आय का साधन नहीं है इस Majdur Bhatta Yojana के तहत नगर विकास के 16 लाख दिहाड़ी सफाई कर्मचारी ,58000 ग्राम सभाओ में 20 -20 मजदूर लिए जायेगे ।इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किये जायेगे । इसके लिए वित्त मंत्री की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते अब मंदी के आसार साफ देखे जा सकते हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। दरअसल योगी सरकार दिहाड़ी मजदूरों के लिए मनी एट होम (Money At Home) योजना लाने जा रही है। कोरोना वायरस के चलते मंदी की संभावनाओं के बीच इस योजना के तहत मजदूरों के बैंक खाते में सीधा पैसा ट्रांसफर (आरटीजीएस) किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना मुख्य तथ्य

योजना का नाम

मजदूर भत्ता योजना

इनके द्वारा शुरू की गयी

मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा

लॉन्च की तारीख

21 मार्च 2020

लाभार्थी

राज्य के मजदूर परिवार

उद्देश्य

राज्य के मजदूरों को भत्ता प्रदान करना

 

योगी मजदूर योजना का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है जब से पूरे देश में कोरोना वायरस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है जिससे लोग काफी डरे हुए है जिसकी वजह से मजदूर अपने कामो पर भी नहीं जा पा रहे है जिसकी वजह से पैसे न होने के कारण  मजदूर अपनी आर्थिक ज़रूरतों को पूरा नहीं कर पा रहे है और कोरोना वायरस की वजह से मंदी के भी आसार साफ दिखाई दे रहे है इन समस्याओ को देखे हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने इस उत्तर प्रदेश मजदूरभत्ता योजना के शुरू किया है इस योजना के ज़रिये दिहाड़ी मजदूरों और निर्माण श्रमिको को राज्य सरकार द्वारा अपनी दैनिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए 1000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करना ।जिसे मजदूरों को घर पर किसी तरह की खाने पीने में कोई परेशानी न हो ।

मनरेगा के मजदूरों को मिलेगा अधिक लाभ

योगी सरकार के द्वारा मनरेगा के मजदूरों को अधिक लाभ दिया जाएगा इन मजदूरों को सबसे पहले मनरेगा का भुगतान जल्द से जल्द किया जाएगा , साथ ही इन मजदूरों के खाते में ₹1000 का अतिरिक्त भुगतान योगी मजदूरी योजना के तहत की जाएगी ।

मनरेगा के मजदूरों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने का भी फैसला किया गया है , योगी सरकार ने कहा कि 1.65 करोड़ परिवारों को अनाज उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें से बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं 15 किलो चावल मुफ्त में दिया जाएगा ।

साथ ही सरकार के द्वारा पेंशन धारियों के लिए भी बड़ी घोषणा की गई है जिसमें जितने भी उत्तर प्रदेश के पेंशन धारी हैं उन सभी को अप्रैल और मई के पेंशन का भुगतान अप्रैल माह में ही कर दिया जाएगा ।

उत्तर प्रदेश मजदूर 1000 रुपये योजना पात्रता

  • आवेदन करने वाला उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए|
  • आवेदन करने के लिए मजदूर और दिहाड़ी होना चाहिए|
  • इस योजना का लाभ श्रम विभाग के पंजीकृत मजदूरों को मिलेगा|

मजदूर भत्ता योजना का लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब दिहाड़ी मजदूर और निर्माण श्रमिक (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) को यूपी सरकार द्वारा 1000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के 35 लाख मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य के बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल सरकार मुफ्त में देगी। पीडीएस केंद्रों से ये लोगों को दिया जाएगा ।
  • यूपी मजदूर भत्ता योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के ही मजदूर लोगो को ही प्रदान किया जायेगा ।
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘हमने प्रदेश में आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं। इस वायरस से घबराने की नहीं, चुनौतियों से लड़ने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि मजदूरों, ठेला लगाने वालों आदि को तत्काल राशन उपलब्ध कराने का फैसला लिया है।
  • Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana में उन मजदूरो को लिया जा रहा है जो श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत हैं।
  • इस योजना के तहत दिया जाने वाला लाभ सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में सरकार दुआर ट्रांसफर किया जायेगा ।इसलिए  आवेदक का बैंक अकॉउंट होना अनिवार्य है और बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए ।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत सरकार द्वारा लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे और योजना का लाभ उठाये ।

  • सबसे पहले आवेदक को Labour Department को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा ।ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Online Registration and Renewal का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा ।विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा 
  • इस पेज पर आपको लॉगिन फोम दिखाई देगा आपको इस लॉगिन में नीचे Registration Now का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पृष्ट खुल जायेगा इस  पेज पर आपको सदस्य पंजीकरण’ अनुभाग के अंतर्गत “नया पंजीकरण” टैब पर क्लिक करना होगा ।
  • फिर आपको Nivesh मित्र पोर्टल पर पर भेज दिया जाएगा। इस पृष्ठ पर, यूपी योगी मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र 2020 खोलने के लिए Here एंटरप्रेन्योर लॉगिन ’सेक्शन के तहत“Register Here”लिंक पर क्लिक करना होगा ।
  •  इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा आपको इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम , मोबाइल ,आधार नंबर आदि भरनी होगी ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Register के बटन पर क्लिक करना होगा ।

 

 


Leave Your Comment Here